अमेरिका ने H1B Visa का सस्पेंशन बढ़ाया, ट्रंप सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर मचा हंगामा


Trump signed order to suspend H-1B L-1 visas till December 2020


एक तरफ से दुनियाभर (World) में कोरोना वायरस की मार झेल रहे लोग बेरोजगार होते जा रहे हैं वहीँ दूसरी तरफ अमेरिका ने एक ऐसा फैसला लिया है जिससे भारत के लोगों को भी बड़ा झटका लगने वाला है. हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बड़ा झटका दिया है.

Trump blocks H1B visa businesses say decision will hurt US recovery


दरअसल ट्रंप ने H1B Visa के साथ-साथ अन्य तरह के कामकाजी वीजा का सस्पेंशन भी फिलहाल इस साल के अंत तक के लिए आगे बढ़ा दिया है. ट्रंप के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर काफी आक्रोश फैला हुआ है.

हाल ही में मिली रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिका की ट्रंप सरकार ने H1B, L1 और अन्य अस्थाई कामकाजी वीजा को भी सस्पेंड कर दिया है. इसका मतलब ये है कि जिन आईटी वाले लोगों का H1B Visa अप्रैल लॉटरी में अप्रूव हुआ था वो लगो अब अमेरिका नहीं जा पाएंगे.

ट्रंप सरकार के इस फैसले पर बड़े-बड़े राजनेताओं सहित बाकी लोगों ने भी आपत्ति जताई है. आपको बता दें, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी ट्रंप के इस फैसले को गलत बताया है. 




उन्होंने कहा है कि इमिग्रेशन की वजह से ही अमेरिका को इतना फायदा पहुंचा है. इसी वजह से यह देश ग्लोबल टेक लीडर बना है. पिचाई ने लिखा कि वह आज के आर्डर से निराश हैं.

Coronavirus In Animals: कुत्ते, बिल्ली और शेर के बाद अब इस जानवर में भी पाया गया कोरोना वायरस

अमेरिकी राजनेता डिक डर्बिन ने भी ट्रंप के इस फैसले पर आपत्ति जताई है. उन्होंने लिखा है कि यह गलत तरीका है. H1B Visa में बदलाव करना है ना कि इसे खत्म करना है.



रिपोर्ट्स में यह भी बताया गया है कि इस फैसले का असर उन लोगों पर नहीं होगा जिनके पास पहले से ही यूएस का वीजा है. 

अजब गजब: मोबाइल से चाइनीज एप डिलीट करो और फ्री में नाश्ता करो

अमेरिकी सरकार का यह भी कहना है कि इन वीजा पर लगी अस्थाई रोक की वजह से अमेरिका में लगभग 5.25 लाख नौकरियों की जगह खाली रहेगी. 

हालांकि अब देखना ये होगा कि ट्रंप सरकार यह फैसला कब तक कायम रहता है?

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां