महाराष्ट्र: औरंगाबाद में मालगाड़ी की चपेट में आने से 16 मजदूरों की मौत, पटरी पर कर रहे थे आराम


Aurangabad Train Accident


साल 2020 सभी के लिए बहुत ही बुरा समय लेकर आया है. कोरोना वायरस की महामारी के चलते पहले ही दुनियाभर में काफी मौतें हो चुकी हैं. इसके बाद हाल ही में विशाखापट्टनम की एक फैक्ट्री में गैस लीक होने की वजह से कई लोगों की जानें गईं.

mahrashtra aurangabad train accident
Maharashtra: Auragabad Train Accident

अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद से खबर आई है कि कुछ मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आ गए हैं. दरअसल कुछ मजदूर महाराष्ट्र से पैदल ही अपने गांव की तरफ जा रहे थे. 

थके हारे होने की वजह से सभी लोग रेल की पटरी पर ही आराम करने लगे. इसके बाद एक मालगाड़ी वहां से गुजरी जिसकी वजह से 16 मजदूरों की मौत हो गई है.

इस दर्दनाक हादसे के बाद रेलवे ट्रैक पर मजदूरों के शवों के साथ-साथ रोटियां भी बिखरी हुई नजर आई हैं. बताया गया है कि मजदूर पैदल चल रहे थे इसलिए ज्यादा थके होने की वजह से उनकी नींद नहीं खुल पाई और ट्रेन उनके ऊपर से गुजर गई.

भुसावल से पकड़ने वाले थे ट्रेन

औरंगाबाद की एसपी मोक्षदा पाटिल ने मीडिया को बताया है कि ये सभी मजदूर जालना की एक कंपनी में काम करते थे. गांव जाने के लिए ये सभी भुसावल से ट्रेन पकड़ने वाले थे. 

इन सभी लोगों ने लगभग 45 किलोमीटर का सफर तय किया था. ये सभी लोग मध्य प्रदेश के रहने वाले थे.

Boys Locker Room के बाद अब Girls Locker Room की भी प्राइवेट चैट हुई वायरल

यह घटना शुक्रवार सुबह की है और ये क्षेत्र करमाड पुलिस स्टेशन थाने के अंतर्गत आता है. इसी मामले पर दक्षिण मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने बताया है-

घटना करमाड के नजदीक हुई है. खाली मालगाड़ी प्रवासी मजदूरों के ऊपर से गुजर गई.



इस दुखद घटना पर रेलवे ने दी सफाई

इस दर्दनाक हादसे पर रेलवे ने कहा है-

ट्रैक पर लेते हुए कुछ मजदूरों को देखकर लोको पायलट ने ट्रेन रोकने की बहुत कोशिश की थी लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाया और तब तक मजदूर उसकी चपेट में आ चुके थे. घायलों को औरंगाबाद सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. साथ ही इस मामले पर जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं.
पीएम मोदी ने जताया दुख



इस दुखद घटना के बारे में जानकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है-

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में रेल हादसे में जानमाल के नुकसान से बहुत दुखी हूं. रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है. वह स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है.

रेल मंत्री ने भी ट्वीट कर जताया दुख

पीएम मोदी के साथ-साथ रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्वीट किया है-



आज 5:22 AM पर नांदेड़ डिवीजन के बदनापुर और करमाड स्टेशन के बीच सोये हुए कुछ श्रमिकों के मालगाड़ी के नीचे आने की दुखद खबर मिली. राहत कार्य जारी है और जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं. दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां