Mother's Day 2020: जानिए कैसे हुई थी मदर्स डे की शुरुआत, क्या है इसका इतिहास?


Why Mother’s Day is celebrated every year on second Sunday of May


History of Mother’s Day: जैसा कि आप सभी भली भांति जानते होंगे कि हर साल मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे (Mother’s Day) मनाया जाता है. वैसे तो मां के लिए हर कोई कुछ भी करता है लेकिन यह दिन सिर्फ और सिर्फ मां के लिए ही बनाया गया है. इस दिन बहुत से लोग अपनी मां के साथ समय बिताते हैं और उन्हें गिफ्ट भी देते हैं.

Real History of Mother's Day


बता दें, इस साल मदर्स डे (Mother’s Day 2020) 10 मई को मनाया जा रहा है. देखा जाए तो फिलहाल दुनियाभर में कोरोना वायरस के चलते अधिकांश लोग अपने-अपने घरों में ही हैं. 

ऐसे में सभी लोग अपनी माताओं के साथ यह दिन ख़ुशी-ख़ुशी मना सकते हैं. आइये जानते हैं कि मदर्स डे की शुरुआत आखिर कैसे हुई थी?


मदर्स डे की शुरुआत कैसे हुई - How was Mother's Day started?

बता दें, मदर्स डे को लेकर लोगों के अलग-अलग विचार हैं. कुछ लोगों का यह मानना है कि इसकी शुरुआत अमेरिका से हुई थी. बताया जाता है वर्जिनिया में एना जार्विस नाम की एक महिला ने मदर्स डे की शुरुआत की थी.

How was Mother's Day started

एना के बारे में कहा जाता है कि एना अपनी मां से बहुत प्यार करती थी. उन्होंने कभी शादी नहीं की और अपनी मां का निधन हो जाने के बाद उनके सम्मान में इस दिन की शुरुआत की. 

इतना ही नहीं ईसाई समुदाय के लोग इस दिन को वर्जिन मेरी का दिन मानते हैं. इसके अलावा यूरोप और ब्रिटेन में इसे मदरिंग संडे भी कहा जाता है.




मदर्स डे से जुड़ी एक और कहानी बताई जाती है. कुछ लोगों का यह भी कहना है कि इस खास दिन की शुरुआत ग्रीस से हुई थी. ग्रीस के लोग अपनी मां का बहुत सम्मान करते हैं. 

यही वजह है कि इस खास दिन वो सभी अपनी मां की पूजा करते थे. तभी से इस दिन को मदर्स डे माना गया है.

Why Mother’s Day is celebrated every year on second Sunday of May

आपको बता दें, 9 मई 1914 को अमेरिकी प्रेसिडेंट वुड्रो विल्सन ने इस दिन को लेकर एक कानून भी पारित किया था. इस कानून में साफ़ लिखा था कि मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाएगा. बस तभी से अमेरिका सहित कई देशों में दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता है.


हालांकि फिलहाल देश में माहौल कुछ ठीक नहीं है लेकिन इस साल का मदर्स डे सभी के लिए के खास है. क्योंकि ना चाहते हुए भी सभी लोग घरों में हैं. 

इसलिए अपनी मां के साथ समय बिताएं और हो सके तो उन्हें एक प्यारा सा गिफ्ट भी दें. घर में रहें और सुरक्षित रहें.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां