Trending Now

सिर्फ 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास के बारे में 9 रोचक तथ्य



Social18 पर आप सभी का फिर से स्वागत है. हम आपके लिए हर रोज देश और दुनिया से जुडी रोचक ख़बरें, एंटरटेनमेंट और सेलेबस सम्बंधित मजेदार जानकारी, घर बैठे पैसे कैसे कमायें, स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी, टेक्निकल टिप्स और ट्रिक्स तथा सरकारी नौकरी से संबंधित सभी जरूरी जानकारी लेकर आते रहते हैं. आज के नए टॉपिक के साथ हम फिर से हाजिर हैं.

दोस्तों, युवा भारतीय महिला एथलीट हेमा दास ने महज 15 दिनों में चार गोल्ड मेडल जीतकर पूरी दुनिया में अपना नाम रोशन कर दिया है. यह एक संकेत है कि भारत ने एक नए चरण में प्रवेश किया है, जहां न केवल क्रिकेट बल्कि अन्य खेलों को भी उतना ही महत्व दिया जाता है. चौथा गोल्ड मेडल हेमा ने चेक गणराज्य में Tabor Athletics Meet में 200 मीटर की दौड़ में जीता है. आइये हिमा दस के बारे में कुछ रोचक तथ्यों के बारे में बात करते हैं.
सिर्फ 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास के बारे में 9 रोचक तथ्य
9 Interesting Facts About Hima Das Who Won 4 Gold Medals In Just 15 Days
1. हेमा दास असम से हैं और वह जोमाली और रंजीत दास के पांच बच्चों में सबसे छोटी हैं. हेमा को धींग एक्सप्रेस के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि वह असम के धींग गांव से हैं।

2. 9 जनवरी 2000 को जन्मी, हेमा संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) भारत की पहली युवा राजदूत हैं जिनका उद्देश्य भारत देश में बच्चों के विकास और कल्याण के लिए काम करना है.
सिर्फ 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास के बारे में 9 रोचक तथ्य
9 Interesting Facts About Hima Das Who Won 4 Gold Medals In Just 15 Days
3. पिछले साल, युवा खिलाड़ियों को कड़ी मेहनत करने और खेल के क्षेत्र में उत्साहित करने के लिए उन्हें असम के खेल राजदूत के रूप में भी नियुक्त किया गया था.

4. वर्तमान में, वह इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, गुवाहाटी में एक एचआर अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं.

5. बहुत कम लोग जानते हैं कि हेमा एक फुटबॉलर बनना चाहती थीं. वह स्थानीय क्लबों के लिए स्ट्राइकर के रूप में खेलती थी और वह इसमें काफी अच्छी भी थी. लेकिन साल 2016 में उनके PE कोच ने उन्हें व्यक्तिगत खेलों में भाग्य आजमाने की सलाह दी.



6. हेमा के माता-पिता आम किसान हैं जो चावल की खेती करते हैं. शुरुआत से ही हिमा वहीँ चावल के खेतो में दौड़ती थी और कुछ ही समय की मेहनत में बिजली की गति से दौड़ने लगी.

7. बता दें, सिर्फ कुछ महीनों के प्रशिक्षण के बाद ही वह स्टेट चैम्पियनशिप, गुवाहाटी में कांस्य पदक जीतने में सफल रही. यह सब उनकी कड़ी मेहनत का ही फल था.
सिर्फ 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास के बारे में 9 रोचक तथ्य
9 Interesting Facts About Hima Das Who Won 4 Gold Medals In Just 15 Days
8. आपको जानकर हैरानी होगी कि दो साल पहले तक, स्प्रिंटर में स्पोर्ट्स गियर भी नहीं थे. अभी एक साल पहले की बात है कि उन्होंने दौड़ते समय स्पाइक्स पहनना शुरू किया था.

9. उनकी कड़ी मेहनत ने उन्हें जूनियर नेशनल चैंपियनशिप कोयंबटूर के फाइनल तक पहुंचने में मदद की जिसके बाद उनके दोनॉन कोचों ने उनके माता-पिता को उन्हें पूर्ण प्रशिक्षण लेने के लिए मना लिया. तब से, हेमा ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और विदेशों में भी तिरंगा लहराकर भारत देश का नाम रोशन कर रही हैं.

दोस्तों, एक गरीब किसान की बेटी का भारत के लिए 4 गोल्ड मेडल जीतना बहुत बड़ी बात है. आप इस क्या कहना चाहेंगे? कमेंट कर अपनी राय देना ना भूलें.

कृपयापोस्ट (9 Interesting Facts About Hima Das Who Won 4 Gold Medals In Just 15 Days) को लाइक और शेयर करें. रोजाना ऐसी ही मजेदार और रोचक पोस्ट पढने के लिए हमें फॉलो करना बिलकुल ना भूलेंधन्यवाद. अगले नए टॉपिक को लेकर हम आपके सामने जल्द ही हाजिर होंगे, तब तक के लिए हँसते रहिये और मुस्कुराते रहिये और देखते रहिये Social18.

No comments