Trending Now

जब एकता की मिसाल बनी थी मुस्लिम महिलाएं, कांवड़ उठा कर लगाए थे हर-हर महादेव के नारे


Social18 पर आप सभी का फिर से स्वागत है. हम आपके लिए हर रोज देश और दुनिया से जुडी रोचक ख़बरें, एंटरटेनमेंट और सेलेबस सम्बंधित मजेदार जानकारी, घर बैठे पैसे कैसे कमायें, स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी, टेक्निकल टिप्स और ट्रिक्स तथा सरकारी नौकरी से संबंधित सभी जरूरी जानकारी लेकर आते रहते हैं. आज के नए टॉपिक के साथ हम फिर से हाजिर हैं.


दोस्तों, जैसा कि आप सभी जानते हैं कि सावन के महिने में हिन्दू धर्म के अनुसार भक्त कांवड़ लेने हरिद्वार जाते हैं. यह महिना सबसे पवित्र माना जाता है. इस महीने में शिवभक्त हरिद्वार से अपनी पैदल यात्रा शुरू करते हैं और कांवड़ लेकर घर आते हैं.
आज की पोस्ट में हम साल 2016 में हुई एक कांवड़ यात्रा के बारे में बात करेंगे, जिसे सिदयों तक याद रखा जायेगा. बता दें, इस साल सावन के महीने में मुस्लिम महिलाओं को कांवड़ लाते हुए देखा गया था. जी हाँ, आपने सही पढ़ा. यह नजारा मध्य प्रदेश के इंदौर में देखने को मिला था, जब भारतीय एकता की मिसाल बनकर मुस्लिम महिलाएं शिवजी को जल चढ़ाने के लिए कांवड़ लेकर निकली थी.
Muslim women joined kanwar Yatra 

यह भारतीय इतिहास में एक ऐसी मिशल बनी थी, जिसकी कोई कभी कल्पना भी नहीं कर सकता. यह हमेशा याद राखी जाएगी. यह उन लोगों के मुंह पर एक करार तमाचा थी, जो दिन रात हिन्दू और मुश्लिमों को आपस में लड़वाना चाहते हैं.
Muslim women joined kanwar Yatra

इसके कुछ समय बाद ऐसा ही नजारा उत्तर प्रदेश के बागपत में देखने को मिला था, जब कई मुस्लिम युवक शिवजी को जल चढ़ाने के लिए कांवड़ यात्रा में शामिल हुए थे. यह साल 2018 का मामला था, जिसकी वजह से मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इन लोगों को मस्जिद से बाहर निकाल दिया था.


कृपयापोस्ट को लाइक और शेयर करें. रोजाना ऐसी ही मजेदार और रोचक पोस्ट पढने के लिए हमें फॉलो करना बिलकुल ना भूलेंधन्यवाद. अगले नए टॉपिक को लेकर हम आपके सामने जल्द ही हाजिर होंगे, तब तक के लिए हँसते रहिये और मुस्कुराते रहिये और देखते रहिये Social18.

No comments