Trending Now

पाकिस्तान में बैन हो चुकी हैं बॉलीवुड की ये फ़िल्में, ये रही पिछले एक दशक की रिपोर्ट



Social18 पर आप सभी का फिर से स्वागत है. हम आपके लिए हर रोज देश और दुनिया से जुडी रोचक ख़बरें, एंटरटेनमेंट और सेलेबस सम्बंधित मजेदार जानकारी, घर बैठे पैसे कैसे कमायें, स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी, टेक्निकल टिप्स और ट्रिक्स तथा सरकारी नौकरी से संबंधित सभी जरूरी जानकारी लेकर आते रहते हैं. आज के नए टॉपिक के साथ हम फिर से हाजिर हैं.

दोस्तों, हाल ही में भरतीय वायु सेना द्वारा किये गए एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भविष्य में रिलीज़ होने वाली बॉलीवुड की सभी फिल्मों को बैन कर दिया है. इसके अलावा भारतीय सरकार ने भी पकिस्तान में अपनी फिल्मों को रिलीज़ करने से मना कर दिया है. इतना ही नहीं बॉलीवुड इंडस्ट्री में पाकिस्तान के सभी कलाकारों का प्रवेश भी वर्जित कर दिया है. लेकिन क्या आपको पता है पकिस्तान इससे पहले भी बॉलीवुड की कई बड़ी फिल्मों को बैन कर चुका है. आज की पोस्ट में हम बॉलीवुड की उन्ही फिल्मों के बारे में बात करेंगे.

साल 2010

इस साल पकिस्तान ने इन 2 बॉलीवुड फिल्मों पर बैन लगाया था. इनमे एक लाहौर और दूसरी तेरे बिन लादेन थी. इनमे से पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड चाहता था कि फिल्म के टाइटल बदल दिए जाए और कुछ डायलॉग तथा सीन को हटा दिया जाए, जिसकी वजह ये फ़िल्में वहां रिलीज़ नहीं हो पाई.

साल 2011

साल 2011 में पकिस्तान ने बॉलीवुड की फ़िल्में द डर्टी पिक्चर और डेल्ही बैली पर पूरी तरह बैन लगाया था, जिसकी वजह से ये फ़िल्में वहां रिलीज़ नहीं हो पाई.

साल 2012

इस साल सलमान खान की फिल्म एक था टाइगर, अक्षय कुमार की खिलाड़ी 786 और सैफ अली खान की एजेंट विनोद पकिस्तान में बैन की गई थी.

साल 2013

साल 2013 में रिलीज़ हुई फरहान अख्तर की भाग मिल्खा भाग और धनुष की रांझणा पकिस्तान में बैन कर दी गई थी.

साल 2014



साल 2014 में चिल्ड्रेन ऑफ वॉर और शाहिद कपूर स्टारर हैदर को पाकिस्तान में रिलीज़ नहीं होने दिया था.

साल 2015

इस साल मधुर भंडारकर की कैलेंडर गर्ल्स, सैफ अली खान की फैंटम, रितेश देशमुख की बंगिस्तान और अक्षय कुमार की बेबी को पाकिस्तान ने बैन कर दिया था.

साल 2016

इस साल पाकिस्तान ने बॉलीवुड की 6 बड़ी फिल्मों पर बैन लगाया था. इनमे दंगल, डिशूम, उड़ता पंजाब, शिवाय, ऐ दिल है मुश्किल और नीरजा शामिल हैं.

साल 2017

इस साल सलमान खान की ट्यूबलाइट और टाइगर जिंदा है पाकिस्तान में रिलीज़ नहीं हो पाई. इसके अलावा तापसी पन्नू की नाम शबाना और अक्षय कुमार की जॉली एलएलबी 2 भी पाकिस्तान में बैन कर दी गई थी. शाहरुख़ खान की रईस भी पाकिस्तान में रिलीज़ नहीं हो पाई.

साल 2018

इस साल पाकिस्तान ने 8 बड़ी फिल्मों को बैन किया था. इनमे पैडमेन, परी, राजी, वीरे दी वेडिंग, मुल्क, अय्यारी, रेस 3 और परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण शामिल हैं.

साल 2019 : इस साल के शुरुआत में ही पाकिस्तान ने बॉलीवुड की सभी फिल्मों को बैन कर दिया था. फिलहाल वहां बॉलीवुड की सभी फिल्मों पर बैन लगा हुआ है.

दोस्तों, आपके हिसाब से इनमे से कौन सी फ़िल्में पकिस्तान को बैन नहीं करनी चाहिए थी? कमेंट कर हमें जरूर बताएं.

कृपयापोस्ट को लाइक और शेयर करें. रोजाना ऐसी ही मजेदार और रोचक पोस्ट पढने के लिए हमें फॉलो करना बिलकुल ना भूलेंधन्यवाद. अगले नए टॉपिक को लेकर हम आपके सामने जल्द ही हाजिर होंगे, तब तक के लिए हँसते रहिये और मुस्कुराते रहिये और देखते रहिये Social18.

No comments